Bounce Rate क्या है और Bounce Rate को कम कैसे करे?

आप सभी को हमारे यह लेख Bounce Rate क्या है और Bounce Rate को कम कैसे करे? पर स्वागत है . Blog बनाने का मकसद चाहे जो भी हो पर हर एक serious blogger यही चाहते हे की उसके blog पर रोज आए, उसके लिखे हर post को ध्यान से पढ़े और ज्यादा से ज्यादा देर तक उसके blog पर टिके रहे . केहेने का मतलब Bounce rate कम हो . तो चलिए जान लेते हे Bounce rate क्या होता है और इसका क्या मतलब होता है उसके बाद हम Bounce Rate को कम करने के तरीके के बारेमे बात करेंगे.

Bounce Rate क्या है और Bounce Rate को कम कैसे करे?,Bounce rate को check करने का समय,Bounce Rate High होने के Top Reasons:,Bounce Rate क्या हे ?,Bounce Rate कैसे पता करे ?,Bounce Rate कितना होना चाहिए,Bounce Rate को कम करने के तरीके,

अगर आप new blogger हे और आप भी चाहते हे की visitors आपके blog/website पर ज्यादा समय तक busy रहे तो समझ लीजिए की site के Bounce rate को check करने का समय आ गैया हे .

Bounce Rate Google Ranking Factor हे जो बहुत जरूरी हे Post को google मे rank करने केलिए .

Bounce rate को घटाने से पहले आपको जरूरत हे Bounce Rate क्या हे वो समझने की . तो चलिये पहले जान लेते हे इस Bounce Rate क्या हे ओर कैसे काम करता हे .

Bounce Rate क्या हे ?

Blog पर traffic तभी आता हे जब आपके blog का content आच्छा हो , लेकिन बहुत कम लोग इस बात को follow करते हे . आप के blog का traffic पूरा depend करता हे की आप किस तरहा से लिखते हो .

आपके bolg पर रोज़ ही नए नए visitors आते होंगे कुछ google results से कुछ social media से तो कुछ referral links से , पर  उनमे से कुछ ही visitors होते हे जो की आपके blog पर ज्यादा समाय तक रुकते हें या दुबारा से फिरसे कभी आपकी site को open करते हें .

Bounce rate उन visitors का percentage होता हे जो की आप के blog पर आतेतो हे पर बिना किसी page पर click किए बिना वोह आप की site से तुरंत ही लोट भी जाते हें .

मतलब की visitors आए ओर तुरंत चले गए इसी को Bounce rate कहते हे , ये जितना जादा होगा मतलब उतने ही जादा लोग site से तुरंत लोट रह हें ओर वो एक website owner के लिए उतना ही खराब हे .

इसके बहुत सारे reasons हो सकते हे , तो बास ये समझ लीजिये की आपकी site के लिए बेहतर यही होगा की उसका bounce rate कम ही हो , जितना हो सके उतना आच्छा हे .

Bounce Rate High होने के Top Reasons:

  • Website की design आछा ना होना .
  • Website loading समय ज्यादा होना .
  • Design Responsive ना हो .
  • कम powerful content होना .
  • Content की कमी होना .
  • सेही content ना होना .

Bounce Rate कैसे पता करे ?

Google analytic google का एक एसा product हे जिसका use कर के हम आसानी से आपने users के बारेमे  पता लगा सकते हे , कोनसी country से कितने visitors आ रेहेहे , कितने page-views हो रहा हे ओर कितना bounce rate हो रहा हे . इसकी साथ कितना time तक visitor किस page पर रुक रहे हे जेसी बहुतसी जानकारी. मेँ सोचता हूं blogger को Google के इस product का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए .

जैसे की मेने बताया हे की Google Analytics का use कर के आप bounce rate को track कर सकते हे , इसीलिए आपको चाहिए की आप आपने google analytics account पर login हो जाए .

Google Analytics मे Reporting पर जा कर site content>All pages पर जाना हे , पूरी information आपके सामने होगी . आप देख पाएंगे की visitors का कितना percent आपके blog से bounce यानि की लौट जा रहा हे .

Bounce Rate कितना होना चाहिए :

bounce rate kitna hona chaiye uski jankari hindi me

अगर site का Bounce rate 35% से ज्यादा हे तो आपको थोड़ा serious होने की जरूरत हे कीऊँकी आपके traffic किसी ना किसी वझा से आपकी site पर आ कर लौट जा रहा हे जो की बिलकुल भी अछि बात नेही हे .

अगर bounce rate 50% से भी ज्यादा हे तो ये घबराने वाली बात हे आपको इसे तुरंत fix करने मे लग जाना चाहिए .

Visitors को लाने मे जितनी मेहनत लगती हे site पर , ओर अगर वो site पर रुक्के ही नेही तो हमारे मेहनत बेकार समझलो . इसीलिए जितनी मेहनत आप site पर ज्यादा से ज्यादा visitor लाने मे करते हे उतनी ही visitors को site पर बनाया रखने मे भी करे .

Bounce Rate को कम करने के तरीके :

1: बढ़िया Web Design

आपके readers designers नेही हे फिर भी उनको आछे ओर बुरे web design का पूरा sense हे . अगर आपका web design का भबीस्यत नेही हे , आंखो मे चुंबने वाले colours का इस्तेमाल किया गया हे या फिर पूरी site पर animation run कर रहा हो तो इसे change कर ले .

2: बेहतरीन Content

Aisa content डाले जिसमे अछि information हो ओर visitors को जो बांध के रख पाये . जो Visitor को चाहिए वो ही डाले .

बढ़िया Content कैसे लिखे वो जानने के लिए hindi peak पर आप पढ़ सकते है .

3: Multimedia का इस्तेमाल

आपने site को interesting बनाने केलिए images, gifs, audio और videos का इस्तेमाल करे और आज कल तो infographics trend में हे , आप इनका भी इस्तेमाल कर सकते हे .

4: Loading समय कम करे

Loading time बहुत ही जरूरी हे Bounce rate कम करने के लिए , किऊं की कोई भी wait करना पसन्द नही करते, अगर site speed load  नहीं होगी तो close कर देंगे .

इसीलिए इस बात का ख्याल रखे site fast load हो, और आप उसमे जो Images ओर multimedia का इस्तेमाल करते हे वो limit में करे .

5: Interlinking

आपने articles में previous post के links भी डाले जिसे की आप के visitors ओर भी post को notice कर सके . Example के लिए आप इसी post काे ले लीजिए जिसमे मेने जहां भी possible हो सकता था link add की हे दूसरी post की .

6: Powerful Widgets

Related post/ featured post से visitor को देर तक रोके .

7: Keywords सही चुने

Keywords का सही होना बहुत जरूरी हे अगर आपने सही keywords का इस्तेमाल किया हे सेही visitors आप तक पहचेंगे आप की site पर अपना interest भी देखेंगेे .

Keyword क्या हे और उसको कैसे use करे उसकी जानकारी और KEYWORD DENSITY क्या रखे Search Engine में Top Rank करने के लिए यह जानकारी आपको hindi peak में मिल जायेगा .

8: User Friendly

User Friendly से मतलब हे की जो आपकी post का format हो वो ऐसा हो जिसको पढ़ने में आसानी हो.. Site की जो menu हे वो clear हो जिससे अगर जो site का visitor को site में कहीं जाना हो तो वो आसानी से जा सके .

9: Mobile Friendly Design

Blog को responsive होना यानी उसकी usability हर device ओर हर browser के लिए होनी चाहिए. 2014 के बाद से ज्यादातर users website को अपने smartphone पर ही browse कर लेते हे ,वजा ये हे computer या pc पर open करने के तो Website का Design Mobile Friendly होना बहुत जरुर हो गया हे अभी के time मे .

Google Search Ranking मे भी फायदा मिलता है Mobile Friendly Design से.

10: ज्यादा words के article

लंबा post लिखे पर ध्यान रहे paragraph छोटे ही हो. ज्यादा बड़ा article पढ़ना किसी को नही पसंद हे आप use break कर के लिखे तो देखने में भी आच्छा लगेगा और आपके visitors भी आसानी से पढ़ लेंगे . आपका article 500-600 words का होना चाहिए .

पर ये जरुर नही की article छोटा हो.. कहना का मतलब हे Article जितना लंबा लिख सकते हो लिखो. पर pure artice के information एसी होनी चाहिए जिसको लोग पढ़े , फालतू का कुछ भी लिखने से अपना time बरबाद करना ही हे .

11: Post का Title सेही हो

Post का Title आछा लिखे और ऐसा लिखे जिसको पढ़ कर समझ जा सके की post में क्या हे. बहुत लोग क्या गलती करते है post का title कुछ भी लिख देते हे ताकि visitor उसको search करके उनके blog पर आयेगा.. हां ये सच हे visitor आ सके हे.. पर जब जो उनको चाहिए वो नहीं मिलेगा तो वो तुंरत आपके blog को बंद कर देगें जिससे blog का bounce rate बहत बढ़ जाता है.. जो SEO के नजर से बहुत ही गलत हे .

12: पहले Paragraph

जब भी Article लिखे, उसमे जितनी जल्दी हो सके clear करने की कोसिस करे की आप उस article मे क्या क्या बताने वाले हे.. जिससे जो visitor हे उसको पता चल जाए की यहां पर ये  जानकारी हे और वो site पर बना रहे .

13: Commenting

अगर आपने मेहनत करके बाडिया Article लिखा हे और अगर उसको कोई पढेगा तो सीधी सी बात हे आपको ये जब पता चलेगा की लोगो को आपका article कैसा लगा जब वो आपके उस article पर comment करेंगे.. तो जैसे भी possible ho last मे अपने visitors से जरूर कहे की वो comment करके बताए उनको ये जानकारी कैसी लगी.. इसका Bounce Rate कम होगा किऊंकी वो article पढ़ने के बाद भी आपकी site पर comment करने के लिए थोड़ी देर और रुकेगा..

14: Category ज्यादा ना रखे

ये गलती भी हे जो बहुत से New Blogger कर देते हे.. मतलब की जिस Topic पर आपका blog हे अगर आप सिर्फ उसके article डालेंगे तो जो भी उसकी जानकारी चाहता हे उसको भी पूरी जानकारी मिल जाएगी.. पर अगर सभी category का mixture करके article publish किया जाएगा तो जो visitor हे उसको समझ नही आयेगा और वो blog से चला जायेगा..

Blog पर ज्यादा Category use ना करे और जितनी भी करे उसको Labels और Categorys की मदद से हर article को set करके रखे .

15: Number of Pages

Bounce Rate ज्यादा होने का एक ये कारण भी हो सकता हे की आपकी site पर जो Post की संख्या हे वो कम हो.. जिससे क्या होगा की जो visitor हे उसके pass कम option रहेगा तो वो जल्दी चला जायेगा.. इसके लिए अपनी site पर बड़िया article publish करे..

Daily कमसे कम एक article जरूर publish करे.. Regular अपनी site को Update करने से क्या क्या फाईदे हे वो जानने के लिए यहां click करे .

16: Search Box Use करे

Blog मे search box का होना बहुत जरूरी हे, किऊंकी अगर कोई user आपकी site पर आया और उसको कोई और जानकारी आपके blog से चाहिए तो उसको खोजने का सिर्फ Search Box ही एक तरीका हे.. और अगर search box नहीं होगा तो ना चाहते हुए भी उसको हमारी site से जाना पड़ेगा.. जिससे Bounce rate बढ़ेगा .

सम्बन्धित लेख:

निष्कर्ष: 

तो दोस्तों अब आप समझ ही गए होंगे की Bounce Rate क्या है और Bounce Rate को कम कैसे करे?, आप जो भी हो सके वो करे जिससे आपकी site पर visitor ज्यादा से ज्यादा देर तक आपकी site पर रुकी रहे और आपकी site का Bounce rate कम रहे .

ये तो कुछ basic tips थे आपनी site/blog का bounce rate घटाने के , आपके लगता हे की इस post मे उपयगी information दी गई हे तो आप इसे और लोगो तक पहुंचनना भूले, हमारे ये post share करे . साथ ही अगर आप पास भी कोई आच्छा idea हे Bounce Rate कम करने का तो comment section मे use भी .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here